images 2020 05 04T035618.954Z Krishi Farming

Cyclone Tauktae Update-चक्रवाती तूफ़ान के असर से उत्तर भारत में भी तेज़ हवाओं के साथ भारी बारिश की संभावना।

Cyclone Tauktae Update- चक्रवाती तूफ़ान के असर से उत्तर भारत में भी तेज़ हवाओं के साथ भारी बारिश की संभावना।
—————————————-
चक्रवाती तूफ़ान तौते आज रात को अति भीषण तूफान के रूप में सौराष्ट्र के दक्षिण भागों में थलप्रवेश करेगा, भीषण बारिश और 180 किलोमीटर प्रति घंटा तक हवा के झोंके देखे जायेगे।

•यह पूर्वानुमान उत्तर भारत पर होने वाले असर के बारे में है तो चलिए जानते है कहां पड़ेगा कितना असर:

🔺 राजस्थान (18-19 मई)
•चक्रवात कमजोर पड़ते हुए 18 मई की शाम को राजस्थान के दक्षिणी हिस्सों में डिप्रेशन के रूप में प्रवेश करेगा।
⚠️पूर्वी बाड़मेर, जालोर, सिरोही, माउंट आबू, उदयपुर, डूंगरपुर, बांसवाड़ा, प्रतापगढ़, राजसमंद, पाली, जोधपुर, पूर्वी जैसलमेर, राजसमंद, चित्तौड़गढ़, अजमेर के हिस्सों में 18-19 मई को सभी जगह मध्यम बारिश होगी कुछ जगह भारी से बहुत भारी बारिश की संभावना है।(100-150 एमएम)
18 मई को केंद्रीय तो उत्तरी राजस्थान के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश शुरू होगी।
•19 मई को प्रणाली आगे बढ़ते हुए केंद्रीय और उत्तरी राजस्थान पर होगी, नागौर, पूर्वी बीकानेर, टोंक, बूंदी, कोटा, सवाई माधोपुर, करौली, धौलपुर, दौसा, जयपुर, भरतपुर, अलवर, सीकर, झुंझनु, चूरू, पूर्वी हनुमानगढ़ के हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश कई जगह और कुछ इलाकों में भारी बारिश की संभावना होगी।(40-100 एमएम)
•गंगानगर, बीकानेर, जैसलमेर के पश्चिमी और भारत पाकिस्तान बॉर्डर से लगते इलाकों में केवल तेज़ हवाएं चलेगी, एक दो स्थानों पर बूंदाबांदी या हल्की बारिश संभव, मुख्य प्रभाव यह नहीं पड़ेगा।
🔸18-19 मई के दौरान राजस्थान के हिस्सों में 40-60 किलोमीटर प्रति घंटे तक हवा चलेगी और सबसे तीव्र हवा 100 किलोमीटर प्रति घंटे तक हो सकती है।
🔸दिन का तापमान 30°c के आसपास या उससे कम रहेगा।

🔺हरियाणा, दिल्ली एनसीआर, उत्तरप्रदेश, पूर्वी पंजाब(19-20 मई)

•राजस्थान से डिप्रेशन कमजोर होते हुए दक्षिण हरियाणा/दिल्ली एनसीआर के करीब आते ही कम दबाव का क्षेत्र बन चुका होगा।

•हरियाणा, दिल्ली एनसीआर और उत्तरप्रदेश में 18 मई को बादल छाए रहेंगे और एक दो स्थानों पर बूंदाबांदी संभव है।

•हरियाणा और दिल्ली एनसीआर पश्चिमी यूपी: 19 मई की सुबह/दोपहर से हल्की से मध्यम बारिश की गतिविधियां शुरू होंगी।

⚠️19 मई की शाम से रेवाड़ी, नारनौल, चरखी दादरी, मेवात, गुड़गांव, फरीदाबाद, पलवल, झज्जर, रोहतक, भिवानी, हिसार, पूर्वी सिरसा, फतेहाबाद, कैथल, जींद, सोनीपत, पानीपत, करनाल, कुरुक्षेत्र, अंबाला, यमुनानगर, अंबाला, पंचकूला सहित चंडीगढ़, मोहाली, पटियाला, रूपनगर और राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली, उत्तरप्रदेश के आगरा, फीरोजाबाद, मथुरा, कांसीराम नगर, बुदौन, अलीगढ़, नोएडा, गाजियाबाद, बागपत, शामली, मेरठ, मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, बिजनौर, मोरादाबाद, बुलंदशहर, रामपुर, बरेली, मैनपुरी, पीलीभीत के हिस्सों में मध्यम से भारी बारिश के दौर शुरू होंगे जो 20 मई की शाम तक जारी रहेगा।(40 -100 एमएम)।

•पश्चिमी पंजाब, केंद्रीय और पूर्वी उत्तरप्रदेश के हिस्सों में केवल हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है।

🔸19-20 मई के दौरान हरियाणा, दिल्ली एनसीआर, उत्तरप्रदेश, पूर्वी पंजाब के हिस्सों में 20-40 किलोमीटर प्रति घंटे तक हवाएं चलेगी, ज्यादा से ज्यादा झौखे 70 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार तक हो सकते हैं।

🔸19 मई को कई हिस्सों में तापमान 30°c के पास होगा, 20 मई को और गिर कर हरियाणा, दिल्ली एनसीआर, चंडीगढ़ और पश्चिमी उत्तरप्रदेश में अधिकतम तापमान 25°c के आसपास दर्ज किया जा सकता, गर्मी में ठंड को एहसास होगा।

🔺हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड(20 मई):

•कम दबाव के क्षेत्र के असर से 19 मई की शाम से दिनों राज्यो में हल्की से मध्यम बारिश शुरू हो जाएगी।
⚠️20 मई को दोनों राज्यो में भारी से बहुत भारी होने की संभावना है, ऊपर इलाकों में बादल फटने और भूस्खलन जैसी गिविधियों से इंकार नहीं किया जा सकता, सावधानी बरतनी चाहिए।

•प्रणाली उत्तर भारत की तरफ आएगी उसका कारण भी पश्चिमी विक्षोभ और उसकी ट्रफ है जो पश्चिमी से बढ़ेगी और प्रणाली को पूर्वी की और धकेल देगी, बंगाल की खड़ी में रिज के चलते ही प्रणाली उत्तर भारत आ रही है।

•जैसे ही अरब सागर के तूफान का आसार समाप्त होगा पीछे से आ रहे पश्चिमी विक्षोभ का असर शुरू है जाएगा। पश्चिमी पंजाब, और उत्तरी राजस्थान और पाकिस्तान के लगते इलाकों में जहां अरब सागर प्रणाली बारिश नहीं करेगी वहां 21-24 मई के बीच पश्चिमी विक्षोभ की आंधी बारिश होने की संभावना होगी, उसी दौरान हरियाणा के भी कुछ हिस्सों में बारिश हो सकती है। अरब सागर की प्रणाली के निकलते ही पश्चिमी विक्षोभ का भी विश्लेषण करके अपडेट देंगें।

ताज़ा जिलावार पूर्वानुमान और लगातार अपडेट तात्कालिक पूर्वानुमान श्रृंखला द्वारा की जाएगी।

Source:- लाइव वैदर आफ इंडिया

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *